Sasur ne ghar ko kaidkhana bana kar rakh dia (Hindi story)

Sasur ne ghar ko kaidkhana bana kar rakh dia (Hindi story)
Share this Post

बेटी की बचपन से ही आदत थी ! वो जन्मदिन आने के 4-5 दिन पहले से ही कहने लगती .. पापा आपने ”गिफ्ट” ले लिया ? मै मुस्कराता और नहीं में सर हिला देता .. वो गुस्से से मुँह फुला लेती ! फिर जन्मदिन वाले दिन सरप्राइज़ मिलता तो बहुत खुश होती !

जब उसकी शादी हो गई तो मानो ऐसा लगा की जैसे घर की रौनक ही चली गई है क्योंकि निःसंदेह बेटियाँ घर में अनथक संगीत की तरह होती हैं !! वो बहु बनकर अपने ससुराल चली गई I

Sasur ne ghar ko kaidkhana bana kar rakh dia (Hindi story)

इस बार वो ससुराल में थी, मैं भी गिफ्ट खरीद कर वहीँ जा पहुँचा I बर्थ डे पर सरप्राइज़ देने की नीयत से दबे पावँ उसके घर में दाखिल हुआ I अंदर बेटी के रोने और उसके पति और सास के लड़ने की आवाज़ें बाहर तक आ रही थी ! कलेजा मुँह को आगया, मै बोझिल पैरो से पलटा, बाहर मेन रोड़ पर आकर मैंने फोन पर उसके ससुराल आने की ख्वाहिश ज़ाहिर की तो वह बोली —

पापा आज मत आना, हम बाहर “डिनर” करने आएं हैं ! आज मेरा बर्थ-डे है ना ! …..

नाज़ुक पर ज़िद्दी दिखने वाली ये बेटियाँ समय के साथ खुद को कितना बदल लेती है ? ..
????????????????
????????????????

पिता ने बंदिशे लगाई,
उसे संस्कारो का नाम दे दिया I

सास ने कहा अपनी इच्छाओं को मार दो,
उसे परम्पराओं का नाम दे दिया I

ससुर ने घर को कैदखाना बना दिया,
उसे अनुशासन का नाम दे दिया I

पति ने थोप दिये अपने सपने अपनी इच्छायें,
उसे वफा का नाम दे दिया I

बच्चों ने अपने मनकी की और उसे नयी सोचका नाम दे दिया I

ठगी सी खड़ी वो जिन्दगी की राहों पर,
और उसने उसे किस्मत का नाम दे दिया I

मंदिर में गयी तो , महाराज ने उसे कर्म का नाम दे दिया II

जिंदगी तो उसकी थी एक पल जीने को तरस गयी। फिर भी इन चलती सांसों को उसने जिंदगी का नाम दे दिया…!!

यह बलिदान केवल लडकी ही कर सकती है, इसिलिए हमेशा लडकी की झोली वात्सल्य से भरी रखना।

कहानी पसंद आयी तो हमारे फेसबुक और टवीटर पेज को लाइक और शेयर जरूर करें ?


? Facebook.com/cbrmixglobal

? Twitter.com/cbrmixglobal

Support/Donate Us (Bhim UPI ID) :[email protected]

Also read :   बुढ़िया ने बनाया बैंक मैनेजर को पागल हास्य कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *