Rachna machine hai kya full hindi story

Rachna machine hai kya full hindi story

“रात के आठ बजे बहु और बेटे दोनों ऑफिस से आये । बेटा आकर धम्म से सोफे पर बैठ गया । माँ पानी का एक गिलास लेकर हाजिर हो गयीं । बहु सीधी रसोईघर में गयी और पानी लेकर पीने लगी । छोटी बेटी अनन्या आकर माँ से लिपट गयी और दूध बनाने की फरमाइश कर दी ।

Rachna machine hai kya full hindi story
बहु ने जल्दी से दूध बनाकर दिया ।
“अरे रचना बहु ….राकेश को चाय बना दो ….थक जाता है सारे दिन काम करके ।”माँ ने बेटे के पास सोफे पर बैठते हुए कहा ।
रचना ट्रे में तीन चाय ले आई । तीनों बैठकर चाय पीने लगे ।
“अरे बहु वाशिंग मशीन में कपड़े पड़े हैं जरा सुखा देना ।”
“तुम खाना बनाओगी । मैं सुखा देता हूँ ।”राकेश ने पत्नी रचना से कहा तो सास का मुँह फूल गया ।
“अरे तू आराम कर ले …रचना सुखा देगी …थक गया होगा ।
राकेश माँ का फूला मुँह देख चुप बैठ गया । रचना जल्दी जल्दी घर के काम निपटाने लगी ।
राकेश को लगा कि वह ऑफिस से आकर कितनी थकान महसूस करता है और रचना तो घर के काम और दोनों बेटियों को भी सँभालती है ।
“क्या बना रही हो रचना ?”राकेश ने रसोई में आकर पत्नी से पूँछा ।
“भिन्डी ।”रचना ने थकी हुई आवाज में धीरे से कहा ।
“लाओ आज मैं बनाता हूँ ।तुम आटा मलो ।”
“ठीक है ।”रचना ने खुश होते हुए कहा ।
“अरे बेटा तू आराम कर रचना बना लेगी ….!”
“माँ रचना मशीन है क्या ?”राकेश ने माँ से मुस्कराते हुए पूँछा

If you like this story Please don’t forget to like our social media page –


Facebook.com/cbrmixglobal

Twitter.com/cbrmixglobal