Raavan full hindi story

Raavan full hindi story
Share this Post

आधी रात के बाद अचानक वरुण की नींद खुली तो रावण के पुतले की याद आई। उसने धीरे से दरवाजा खोला और घर के बाहर खुले में निकल आया। टहलते हुए उसे मैदान पर पहुंच गया, जहां दशानन का विशाल पुतला आसमान छूने का प्रयास करता प्रतीत हो रहा था। वरुण को आश्चर्य हुआ। रावण जाग रहा था अत: उसने पूछ लिया- क्यों रावण महाशय! अपने दहन के भय से नींद आंखों से गायब है?

Raavan Full hindi story

नहीं बच्चे, ऐसी बात नहीं, मुझे अपनी नियति पता है। मेरी सांसें बंद होने में अभी कुछ घंटे बाकी हैं। दशानन ने निर्विकार भाव से कहा।

वरुण ने मुस्कुराते हुए पूछ लिया- मैंने सुना है आपके आखिरी समय में भगवान राम की प्रेरणा से लक्ष्‍मण भी आपसे ज्ञान की बातें सीखने पहुंचे थे?

हां, आए तो थे, हालांकि उनको सिखाने की मेरी क्या औकात? यह तो उनका बड़प्पन था, जो मेरे पास आए, रावण ने सकुचाते हुए स्वीकारा।

फिर तो महाशयजी, आपको मुझे भी कुछ सीख देना पड़ेगी, वरुण ने कहा।

तुम दया करो, वह जमाना और था। आज तो ज्ञान का विस्फोट हो गया है। ज्ञान प्राप्त करने के अनेक स्रोत सहजता से उपलब्ध हैं। इंटरनेट तो ज्ञान का अथाह सागर है, रावण ने बताया। >
माना कि यह सब है फिर भी अपने मुंह से कम से कम एक सीख अवश्य देनी पड़ेगी, वरुण ने विनम्रतापूर्वक आग्रह किया।

रावण सोच में पड़ गया- इतने सारे विषय हैं, किस बारे में तुम्हें बताऊं, समझ नहीं आ रहा है। मेरे विद्यार्थी जीवन के लिए जो आप उचित समझें, उनमें से एक बता दीजिए, वरुण ने रावण का रास्ता सुगम किया।

रावण ने गंभीर स्वर में कहा- हालांकि जो मैं बताने जा रहा हूं, वह कोई नई बात नहीं है, लेकिन आज के समय में बहुत महत्वपूर्ण है।

बताइए, वरुण सचेत हो गया।

देखो वत्स! अच्छे कामों को कल पर टालना उचित नहीं होता। एक बार टालने के बाद उनके लिए अवसर न आएगा, रावण ने बताया प्रारंभ किया।

हां, मेरे दादाजी कहते हैं… अवसर हर जगह उपलब्ध है, दिमाग और आंखें खुली रखने की जरूरत है। हमेशा ध्यान रखो, एक दरवाजा बंद होते ही दूसरा तुरंत खुल जाता है, वरुण ने कहा।

हां बेटे, मैंने सोचा था… नरक का द्वार बंद करवा दूंगा, समुद्र का खारा पानी निकालकर उसमें दूध भरवा दूंगा, धरती से स्वर्ग तक सीढ़ियां बनवा दूंगा… पर मैं इन कामों को टालता रहा और कल कभी आता नहीं, इसलिए समय का सदुपयोग करो, किसी अच्छे काम को कल पर टालो नहीं, रावण ने अपनी गलती पर पछतावा जताते हुए समझाइश दी।

मेरे दादाजी कहते हैं… समय निरंतर दौड़ रहा है। दुनिया के तमाम सारे पैसे खर्च कर भी बीता हुआ एक पल पुन: प्राप्त नहीं किया जा सकता, वरुण ने बताया।

बिलकुल ठीक कहते हैं, अच्छे कामों को टालना बुरा है और बुरे कामों को टालना अच्छा। सीताजी के हरण में मैंने तत्परता दिखाई जबकि वह मुझे टालना चाहिए था। रावण ने अपनी करनी पर दु:ख प्रकट किया।

धन्यवाद रावणजी, आपकी यह सीख मैं आजीवन नहीं भूलूंगा और उससे लाभ उठाऊंगा। वरुण ने वादा किया और घर की ओर लौट पड़ा। > सीख देने के संतोष से रावण ने आंखें बंद कर लीं।

Related posts:

Us purani Haveli me jarur koi hai hindi bhoot ki kahani
Tum bahot acche ho ek pyar bhari kahani thand ke mausam me
Kanha abhi so rahe hain (hindi spritural kahani)
Ab se tum mujhe Mam nahi Didi hi bolna bhai behan kahani
Kisi ka biswaas nahi todna chahiye ek daaku ki kahani
Dhakka kisne dia funny hindi story
Ab Tum mujhe katne aa gaye ho full hindi sad story
Jeevan ke rang full hindi story
Janiye Ek sher ka ghamand kaise tuuta full hindi story
Himmat na haarein
Samosa wale ki dukan
Use Naukar ki tarah na bulayen full hindi story
Ek Judge ka talaak (rula dene wali kahani hindi me)
Is ghar me tera utna hi adhikar hai best hindi story
Kitchen aur bathroom me koi hai (sacchi ghatna par aadharit ghost story)
Rishi aur Neelam ki love story
Apni behan se kiya hua wo waada
Rachna machine hai kya full hindi story
Jo chahoge wahi paoge ( hindi motivational story) prerak kahani
Seth ji ki beti ki shaadi sharabi se ho gayi (hindi rochak kahani)
Tuute hue rishte ki dukh bhari kahani hindi sad story hindi
Jeevan ka Najariya Full hindi story
एक बार बुद्धि और भाग्य में झगड़ा हुआ। बुद्धि ने कहा, मेरी शक्ति अधिक है
Ghatwar baba Ganga ke tatrakshak hote hain kahani Ghatwar baba ki
Aurtein behad ajeeb hoti hain full hindi story on woman
Din raat subah saam Sonal ko wah ladki najar aane lagi bhoot ki Kahani
Darawani gufa main kyu ghusa hindi horror story
Muslim bhai Humayun aur hindu behan Karnawati ki prachin kahani
Naveen aur Radhika ki talaak ki kahani full story Cbrmix.com
Meri pyari behan full hindi story (bhai behan ki kahani)
Ek chutki Zehar roj full hindi story
Maa ke naam Full hindi story
Kamini ke upar usne kia vashikaran aur phir
Mere papa ki aukat best hindi story
Bhagwan shiv ne Shukracharya ko kyu nigal liya tha
Apno ki Jarurt best hindi story
Bhooto se mulakat hui Kanpur ki sacchi bhoot ki kahani
Sirf wo hi sarvshaktimaan hai ( parmatma ki kahani hindi story)
Behan ko kaid se mukt karaunga bhai behan ki kahani
Janiye kyun Aise he kisi ko naam se bhog nahi lagana chahiye
Mera Delhi ka darwana safar aur mama ne mujhe bachaya
Mere Paida hone par mera baap ruth gaya tha
Jhagda ho gaya bhai behan ki kahani hindi me Cbrmix.com
Bhai behan ne langhi riston ki maryada karne lage ek dusre se pyar
Maa ka pyar hindi story (maa ka pyar full hindi story)
Pair ka juuta kahan se aur kab aaya best full hindi story
नालायक बेटा जो अपने पापा का बहुत ख्याल रखता था
Chota baccha full hindi sad story (hindi sad story)
Kamre me taala laga hua hai bhai behan ki kahani
Papa ye Musalman hai na full hindi story
veeran ho gaya gaav ek bhoot ki kahani
Ek aisi kahani jisme log ladki to Manhus samajte hain
Combined Hospital me Nana Rao Peshwa ji ka bhoot aya
Dahej na Lein full hindi story
Asli sach full hindi story
Coronavirus par ek pita ki dard bhari kahani
Kue waali chudail ki kahani 20 saal pehle ki ghatna hindi me
Murkh Kaun hai full hindi story (ek samajdar aurat ki kahani)
Daadi maa lassi piyogi kya hindi story of a woman
Dil ko chhu jaane wali ek sundar si ladki ki kahani full story
Also read :   Insaaf Mangti Atma-kanpur me 1982 ki sacchi ghatna 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *