Papa hum ameer hote hue bhi kitne gareeb hain hindi kahani

Papa hum ameer hote hue bhi kitne gareeb hain hindi kahani
Share this Post

एक दिन एक अमीर व्यक्ति अपने बेटे को एक गाँव की यात्रा पर ले गया| वह अपने बेटे को यह बताना चाहता था वे कितने अमीर और भाग्यशाली है जबकि गाँवों के लोग कितने गरीब है| उन्होंने कुछ दिन एक गरीब के खेत पर बिताए और फिर अपने घर वापस लौट गए|

Papa hum ameer hote hue bhi kitne gareeb hain hindi kahani

Papa hum ameer hote hue bhi kitne gareeb hain hindi kahani

घर लौटते वक्त रास्ते में उस अमीर व्यक्ति ने अपने बेटे को पूछा – “तुमने देखा लोग कितने गरीब है और वे कैसा जीवन जीते है??   

बेटे ने कहा – “हां मैंने देखा”

“हमारे पास एक कुता है और उनके पास चार है”

“हमारे पास एक छोटा सा स्वीमिंग पूल है और उनके पास एक पूरी नदी है”

“हमारे पास रात को जलाने के लिए विदेशों से मंगाई हुई कुछ महँगी लालटेन है और उनके पास रात को चमकने वाले अरबों तारें है”

“हम अपना खाना बाज़ार से खरीदते है जबकि वे अपना खाना खुद अपने खेत में उगाते है”

“हमारा एक छोटा सा परिवार है जिसमें पांच लोग है, जबकि उनका पूरा गाँव, उनका परिवार है”

“हमारे पास खुली हवा में घूमने के लिए एक छोटा सा गार्डन है और उनके पास पूरी धरती है जो कभी समाप्त नहीं होती”

“हमारी रक्षा करने के लिए हमारे घर के चारों तरफ बड़ी बड़ी दीवारें है और उनकी रक्षा करने के लिए उनके पास अच्छे-अच्छे दोस्त है”

 

Also read :   Ek ladki ke wrong number ne barbad kar di meri zindagi-Love story

अपने बेटे की बाते सुनकर अमीर व्यक्ति कुछ बोल नहीं पा रहा था| बेटे ने अपनी बात समाप्त करते हुए कहा –

“धन्यवाद पिताजी, मुझे यह बताने के लिए की हम कितने गरीब है”

 

कहानी “Papa hum ameer hote hue bhi kitne gareeb hain hindi kahani” पसंद आयी तो हमारे फेसबुक और टवीटर पेज को लाइक और शेयर जरूर करें ?


? Facebook.com/cbrmixglobal

? Twitter.com/cbrmixglobal

Support/Donate Us (Bhim UPI ID) :cbrmix@ybl

Also read :   Jhagda ho gaya bhai behan ki kahani hindi me Cbrmix.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *